Google+ Followers

Sunday, 4 September 2016

वंदन शैलसुता सुत गणपति




वंदन शैलसुता सुत गणपति
सकल मनोरथ कामना पूर्ति......
एकदंत गजबदन विनायक
संकटनाशक जय गणनायक
बुद्धिश्रेष्ठ दो निर्मल बुद्धि
सकल मनोरथ कामना पूर्ति......
मोदकप्रिय जय मंगल-कारक
संत आराधक जय सुरनायक
आदि-अंत जय सिद्धि के पति
सकल मनोरथ कामना पूर्ति......
गजमुख पावन विघ्न-विनाशन
भालचन्द्र जय मूषक वाहन
लम्बोदर जय मंगल मूर्ति
सकल मनोरथ कामना पूर्ति......