Google+ Followers

Monday, 13 January 2014

मकर-संक्राति


एक त्यॊहार कई है नाम ,
भारत कीहै यही पहचान,
मकर-संक्राति,पोंगल,लॊहिडी़ ,
कहीं पर बनता स्वादिष्ट खिचड़ी,
खुशियाँ बांटे , ख़ुशी मनाये  
तिल की मीठी लड्डू खायें  ,
आसमान में चढ़ी पतंगे,
सपनों के उड़ान भरने ,
डोर की जोर पर चढ़ती गयी,
होड़ ही होड़ में बढती गयी,
व्योम के सारे पक्षी तमाम,
'
जी सके ' है यही पैगाम ,
चिड़ियाँ  सब  भी जी पाये
सब कोई  मस्ती कर पाये .

.
HAPPY MAKARSANKRANTI